शाहिद अफरीदी की शादी से जुड़ा ये बड़ा राज़ नहीं जानते होंगे आप

NDTV.com

शाहिद अफरीदी दुनिया भर के क्रिकेट प्रशंसकों के बीच बूम-बूम के नाम से फेमस हैं। वे अपनी बल्लेबाजी के दम पर विरोधी टीम के नाक में दम करने में माहिर हैं। जब तक वे मैदान पर खड़े होकर बल्लेबाजी करते हैं तब ​तक विरोधी टीम का कप्तान और बॉलर परेशान ही रहता है। जिसका सबूत ये है कि शाहिद अफरीदी ने कई मौकों पर महज 37 और 45 गेंदों में शतक ठोका है।

आज हम आपको पाकिस्तानी क्रिकेटर शाहिद अफरीदी कि कुछ खास बातें बताने जा रहे हैं। शाहिद अफरीदी भले ही पाकिस्तानी हो मगर उन्हें प्रसिद्धी हमेशा से भारतीयों के कारण ही मिली है। दुनियाभर के लोग अफरीदी को बूम-बूम कहकर बुलाते हैं मगर उन्हें यह नाम भारत के वर्तमान कोच रवि शास्त्री ने ही दिया है। वो भी तब जब अफरीदी ने भारत के खिलाफ महज 45 गेंदों पर शतक ठोका था।

शाहिद अफरीदी ने महज साढ़े 16 साल की उम्र में पाकिस्तान की ओर से वनडे में डेब्यू किया था। उन्होंने अपना पहला शतक दूसरे ही मैच में श्रीलंका के खिलाफ ठोका था। जो विश्व रिकॉर्ड बन गया था। शाहिद अफरीदी ने 11 छक्कों और 4 चौकों की मदद से सबसे तेज शतक बनाया था।

अफरीदी ने सिर्फ 37 बॉल्स में शतक बनाया था। वे वनडे क्रिकेट में कम सबसे उम्र में शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं। यहां आपको एक बात जानकर ताज्जुब होगा कि ये शतक उन्होंने सचिन के बल्ले से लगाया था। जी हां! शाहिद अफरीदी को वकार यूनिस ने यह बल्ला बल्लेबाजी के लिए दिया था जो ​सचिन का था।

शाहिद अफरीदी के बारे हम जब भी बात करें उनसे जुड़ी ये कहानी हमेशा दुनिया के सामने आएगी। वो है उनकी शादी की बातें, दरअसल शाहिद अफरीदी ने नादिया के साथ शादी की है। नादिया कोई और नहीं बल्कि उनकी ममेरी बहन हैं। जी हां! शाहिद अफरीदी ने अपने सगे मामा की बेटी नादिया से शादी की है। दोनों की शादी 22 अक्टूबर 2000 को हुई थी। अब इन दोनों की चार बेटियां हैं।