कोलकाता में कोहली की विराट ‘कसक’, काश 8 रन बन जाते

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे में विराट कोहली शतक से चूके, पैवेलियन लौटते वक्त दिखे निराश, रिकी पॉन्टिंग को छोड़ देते पीछे कोलकाता के ईडेन गार्डन पर विराट कोहली ने 92 रनों की शानदार पारी खेली, अगर विराट आज अपना शतक पूरा कर लेते तो फिर विराट रिकी पॉन्टिंग का रिकॉर्ड तोड़ देते।

विराट की इस पारी को अगर सबसे जबरदस्त पारी कहा जाए तो गलत नहीं होगा, विराट ने अपनी इस पारी में पहले बल्ले से धैर्य दिखाया और फिर क्रीज पर टिकने के बाद अपना गियर बदला। विराट ने कंगारु गेंदबाजों की जमकर खबर ली। विराट ने 107 गेंदों का सामना किया और अपने 92 रनों की पारी में 8 चौके जड़े।

8 रन की कसक:

विराट ने अपने इंटरनेशन क्रिकेट का पहला शतक कोलकाता के ईडेन गार्डन पर ही साल 2009 में श्रीलंका के खिलाफ बनाया था। और आज 8 रन बनाने पर कोलकाता का ईडन गार्डन विराट के लिए एक बार फिर लकी ग्राउंड साबित हो सकता था।

विराट का मकसद शतक नहीं बल्कि रन बनाना:

विराट कोहली की इस पारी में हर वो शॉट्स देखने को मिले जिसके लिए टीम इंडिया का ये कप्तान जाना जाता है, विराट ने सीरीज शुरु होने से पहले ही साफ कर दिया था कि वो रिकॉर्ड के लिए मैदान पर नहीं उतरते हैं।

उनका मकसद सिर्फ रन बना कर टीम को जीत दिलाने की होती है, विराट अपने इस मकसद में ना सिर्फ कामयाब हो रहे हैं बल्कि विराट के नाम रिकॉर्ड तो अपने आप बनते जा रहे हैं क्योंकि विराट लगातार रन बना रहे हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नर्वस नाइंटी के शिकार:

विराट भले ही आज नर्वस नाइंटी का शिकार हो गए, लेकिन विराट के बल्ले ने दिखा दिया कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रिकी पॉन्टिंग का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए विराट किस कदर बेकरार हैं।

कोलकाता में कोहली के पास मौका तो विराट था लेकिन अब विराट के फैस को इंदौर वनडे का इंतजार करना पड़ेगा, जहां विराट की नजर 31 वें शतक पर होगी।