कम सैलरी से परेशान पोस्टमैन ने कर दिया अनोखा कारनामा, आप मत करना

letter box
letter box

रोम. कम आमदनी और बढ़ते खर्चों से दुनिया के कई लोग परेशान हैं, लेकिन एक पोस्टमैन ने इस समस्या का जो ‘हल’ ढूंढ़ा उसकी इन दिनों खूब चर्चा हो रही है। यह घटना इटली की है। यहां का पोस्टमैन इस बात से बहुत परेशान था कि उसकी सैलरी काफी कम है। उसने अपने उच्चाधिकारियों को चिट्ठी लिखी कि उसकी सैलरी बहुत कम है, लिहाजा वो बढ़नी चाहिए, लेकिन वहां से उसे सिर्फ आश्वासन ही मिले। कोई ठोस नतीजा न निकलते देख उसने एक विचित्र कदम उठाया।

1. चूंकि वह डाक विभाग में काफी समय से काम कर रहा था और उस पर अपने इलाके के लेटर पहुंचाने की जिम्मेदारी थी। उसने अपनी कम सैलरी की खीझ उन लेटर्स पर उतारी। उसके पास पोस्ट आॅफिस से ढेर सारे लेटर आते। वह उन्हें वहां से तो ले आता लेकिन उनके पते तक नहीं पहुंचाता।

2. बल्कि वह उन्हें अपने घर ले आता। सारे लेटर वह पुराने सामान के ढेर में रख देता। इस तरह उसके घर में लेटर्स का अंबार लग गया। अब डाकिया लेटर पहुंचाने घर-घर नहीं जाता। वह ज्यादा से ज्यादा समय आराम करता। शायद इस तरह उसे मानसिक संतुष्टि मिली कि कम सैलरी के बदले वह कम मेहनत कर रहा है, लेकिन उसकी यह कामचोरी ज्यादा दिनों तक छुपी नहीं रह सकी।

3. जब लोगों को अपने लेटर और जरूरी दस्तावेज मिलने बंद हो गए तो उन्होंने डाक विभाग के अधिकारियों को शिकायत की। अधिकारी हैरान थे, क्योंकि उनके आॅफिस से तो लगातार डाक उस इलाके का पोस्टमैन लेकर जा रहा था। आखिरकार उन्होंने मामले की पूरी छानबीन करने का फैसला किया।

4. उन्होंने पोस्टमैन के घर छापा मारा तो उनकी आंखें फटी रह गईं। उसके घर में लेटर्स का ढेर लगा हुआ था। उसने करीब 3 साल से ​लेटर नहीं बांटे थे। उसके घर में लोगों के जरूरी कागजात, बिल, बैंक के लेटर सहित कई दस्तावेज थे। इसके बाद यह मामला कोर्ट में गया जहां पोस्टमैन को 1 साल की सजा सुनाई गई।

अगर आपको हमारी ख़बरें पसंद आईं तो हमें इस पेटीएम नंबर पर कुछ योगदान करें – 9695059039