तोगड़िया को बड़ा झटका, अब इन्हें बनाया गया है VHP का अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष

vishnu-sadashiv-kokje
vishnu-sadashiv-kokje

नई दिल्ली. विश्व हिंदू परिषद के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया के सितारे कुछ दिनों से ठीक नहीं हैं। अब उन्हें एक और बड़ा झटका लगा है। विहिप की नई कार्यकारिणी की घोषणा हो गई जिसमें उनके करीबी राघव रेड्डी को शिकस्त मिली है। वहीं विष्णु सदाशिव कोकजे की जीत हुई है। माना जा रहा है कि इसी के साथ विहिप से तोगड़िया युग का समापन हो गया है।

1. कोकजे हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल रह चुके हैं। इसके अलावा वे मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में जज भी रह चुके हैं। जिस नई कार्यकारिणी का चयन हुआ है उसमें तो​गड़िया और रेड्डी को अहम जिम्मेदारियों से दूर रखा गया है। इसी के साथ सोशल मीडिया में चर्चा है कि अब विहिप से तोगड़िया युग विदा हो चुका है।

2. इस हार से खफा तोगड़िया ने कहा, मैं अब विहिप में नहीं हूं। उन्होंने कहा कि करोड़ों हिंदुओं की आवाज दबाने का प्रयास हुआ है। तोगड़िया ने कहा कि ‘मैं बड़ी लड़ाई जीतने के लिए आज छोटी हार से गुजर रहा हूं।’ उन्होंने हिंदूहितों के बारे में ​कहा, मैं हिंदुओं की मांगों को बुलंद करता रहा।’ हालांकि उन्होंने अपने बयान में हिंदुओं के साथ ही किसानों, युवाओं और मजदूरों के हितों का भी जिक्र किया।

3. तोगड़िया ने ऐलान किया कि वे 17 अप्रेल से अहमदाबाद में अनिश्निचितकालीन उपवास करेंगे। उन्होंने राम मंदिर के मुद्दे पर प्रतिबद्धता जताई। साथ ही यह भी कहा कि उपवास किसानों, महिलाओं, मजदूरों के लिए किया जाएगा। उन्होंने कश्मीरी पंडित, गोहत्या, कॉमन सिविल कोड जैसे मुद्दों का जिक्र किया।

4. जानकारी के अनुसार, तोगड़िया द्वारा मोदी के खिलाफ सार्वजनिक रूप से कड़ी टि​प्पणियों से संघ नाराज था। इसलिए विहिप में तोगड़िया की जगह किसी और को लाने की तैयारी चल रही थी। विहिप के 54 वर्षों के इतिहास में पहली बार अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ है। कई दशकों से तोगड़िया विहिप की पहचान बन चुके थे। अब कोकजे यह पद संभालेंगे। यह भी चर्चा है कि खफा तोगड़िया मोदी के खिलाफ मोर्चा खोल सकते हैं।

अगर आपको हमारी ख़बरें पसंद आईं तो हमें इस पेटीएम नंबर पर कुछ योगदान करें – 9695059039