40 लाख कमाने वाले इस मजदूर की हकीकत जानकर पैरों तले जमीन खिसक जाएगी!

rachappa
rachappa

बेंगलूरु. यहां मासूम-सी शक्ल वाले इस शख्स की मासूमियत पर न जाइए। अगर आप इसके कारनामे जानेंगे तो आपके पांवों तले जमीन खिसक जाएगी। यह खुद को दिहाड़ी मजदूर कहता है लेकिन इसने अपनी सालाना आय 40 लाख रुपए घोषित की है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इसने 2017-18 का इनकम टैक्स अदा किया था। जब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों के सामने इसका मामला खुला तो वे फौरन जांच में जुट गए।

उनकी जांच में सामने आया कि जिस शख्स ने अपनी सालाना आय 40 लाख रुपए बताई, वह एक मजदूर है। वह उच्च शिक्षित नहीं है और केवल 10वीं पास है। डिपार्टमेंट ने इस संबंध में पुलिस को जानकारी दी। उसके बाद तो इस मामले की परतें एक-एक कर सामने आने लगीं। पुलिस की जांच से पता चला कि यह शख्स नशे का कारोबार करता है।

इस धंधे से उसने खूब दौलत कमाई है। जब पुलिस ने छापा मारा तो उसके ठिकानों से काफी मात्रा में गांजा और बड़ी धनराशि मिली। पुलिस ने उसके पास से 26 किलो गांजा बरामद किया। उसके पास पांच लाख रुपए नकद थे। इसके बाद इस शख्स की काली कहानी सोशल मीडिया में छा गई।

rachappa
rachappa

इसका नाम रचप्पा रंगा बताया गया है। उसका एक सहयोगी भी है जो काले कारनामों में भागीदार है। उसका नाम श्रीनिवास है। जो व्यक्ति इन्हें गांजे की सप्लाई करता था, वह फरार हो गया है। पुलिस उसकी तलाश में जुटा है। पुलिस की जांच में यह सामने आया है कि इस मामले का मुख्य आरोपी पुष्पपुरम निवासी है।

पहले वह मामूली मजदूर था। वह कई स्थानों पर मजदूरी के लिए जाया करता था। इस बीच उसने नशे के कारोबार में पैठ बढ़ाई। धीरे-धीरे उसने खुद को इस काम में स्थापित कर लिया। अब तक वह काफी प्रभावशाली हो चुका था। उसने कई लोगों को नौकरी पर रखा हुआ था। वह गांजा तस्करी में बहुत रुपया कमा चुका था।

जांच में खुलासा हुआ है कि उसने एक बड़ा मकान किराए पर ले रखा था। उसका मासिक किराया 40 हजार रुपयाा था। उसके गांजे की बहुत मांग थी। वह एक महीने में करीब 30 किलो तक गांजा बेच लेता था। उम्मीद जताई जा रही है कि इस मामले की और कड़ियां खुलकर सामने आएंगी।